राष्ट्रपति ने सशस्त्र बल के 3 जवानों को कीर्ति चक्र और 15 को शौर्य चक्र प्रदान किए

बड़ी खबरें

थल सेना प्रमुख बिपिन रावत सहित 15 को परम विशिष्ट सेवा मेडल
नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सशस्त्र बलों के जवानों को विशिष्ट वीरता, अदम्य साहस और कर्तव्य के प्रति अत्यधिक समर्पण प्रदर्शित करने के लिए तीन को कीर्ति चक्र और 15 को शौर्य चक्र से सम्मानित किया। दो कीर्ति चक्र और एक शौर्य चक्र मरणोपरांत प्रदान किए गए। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक विशेष समारोह में थल सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत सहित 15 वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों को परम विशिष्ट सेवा पदक (पीवीएसएम) से सम्मानित किया। राष्ट्रपति ने कीर्ति चक्र से सिपाही ब्रहम पाल सिंह(मरणोपरांत), कॉन्स्टेबल राजेंद्र कुमार नयन और मेजर तुषार गौबा का सम्मानित किया। इसके अलावा शौर्य चक्र से सम्मानित होने वालों में कैप्टन अभिनव कुमार चौधरी, मेजर अमित कुमार डिमरी, मेजर पवन गौतम, मेजर आदित्य कुमार, कैप्टन वर्मा जयेश राजेश, लांस नायक अय्यूब अली, सैपर महेश एचएन, नायब सूबेदार विजय कुमार यादव, कैप्टन (टीएस) पी. राजकुमार, गनर रंजीत सिंह, कैप्टन कनिंदर पॉल सिंह, हेड कॉन्स्टेबल ए.एस. कृष्णा, कॉन्स्टेबल के. दिनेश राजा और कॉन्स्टेबल प्रफुल्ल कुमार, हेड कॉन्स्टेबल धनावाडे रविंद्र बावन (मरणोपरांत) शामिल रहे। पीवीएसएम से सम्मानित होने वालों में जनरल बिपिन रावत, लेफ्टिनेंट जनरल सुरिंदर सिंह, लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन पुरी, लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरावाने, वाइस एडमिरल अजित कुमार, एयर मार्शल बालाकृष्णन सुरेश, एयर मार्शल रघुनाथ नाबियार, लेफ्टिनेंट जनरल अश्विनी कुमार, लेफ्टिनेंट जनरल पंकज कुमार श्रीवास्तव, लेफ्टिनेंट जनरल सुदर्शन श्रीकांत, लेफ्टिनेंट जनरल इकरूप सिंह घुमान, एयर मार्शल सरदार हरपाल सिंह, लेफ्टिनेंट जनरल सेवानिवृत्त शौकीन चौहान, लेफ्टिनेंट जनरल सेवानिवृत्त जसविंदर सिंह संधू, मेजर जनरल सेवानिवृत्त विजय चौगले शामिल रहे। राष्ट्रपति ने उत्तम युद्ध सेवा मेडल लेफ्टिनेंट जनरल सरनजीत सिंह को प्रदान किया। इसके अलावा अति विशिष्ठ सेवा मेडल से 25 को सम्मानित किया गया। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण सहित अनेक गणमान्य लोग भी मौजूद रहे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *