तांबे के बर्तन में पानी पीने के फायदें

लाइफस्टाइल

आयुर्वेद में पंचधातु के बर्तनों में खाना अच्छा बताया गया है और इसके फायदों को साइंस भी मानता है। इसी तरह तांबे के बर्तन की भी ऐसी ही कुछ खासियत हैं जो आपकी सेहत के लिए बहुत जरूरी है। तांबे के बर्तन में पानी रखने से यह प्राकृतिक तरीके से पानी को साफ करता है। यह पानी में मौजूद बैक्टीरिया, कीटाणु और फंगस को नष्ट कर देता है जिससे पानी साफ हो जाता है और शरीर को कोई नुकसान भी नहीं पहुंचता है। तांबे में महत्वपूर्ण ट्रेस मिनरल होते हैं जो मानव स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो विषैले पदार्थो को बेअसर करने में मदद करते हैं। तो आइए आपको तांबे के बर्तन में पानी पीने के फायदों के बारे में बताते हैं। तांबा यानी कॉपर, सीधे तौर पर आपके शरीर में कॉपर की कमी को पूरा करता है और बीमारी पैदा करने वाले बैक्टीरिया से सुरक्षा देता है। तांबे के बर्तन में रखा पानी पूरी तरह से शुद्ध माना जाता है. यह सभी डायरिया, पीलिया, डिसेंट्री और अन्य प्रकार की बीमारियों को पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म कर देता हैं। पेट की सभी समस्याओं के लिए तांबे का पानी बेहद फायदेमंद होता है। प्रतिदिन इसका उपयोग करने से पेट दर्द, गैस, एसिडिटी और कब्ज जैसी परेशानियों से निजात मिल सकती है। एनीमिया की समस्या में भी इस बर्तन में रखा पानी पीने से लाभ मिलता है। यह खाने से आयरन को आसानी से सोख लेता है जो एनीमिया से निपटने के लिए बेहद जरूरी है। तांबे में एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं जो शरीर में दर्द, ऐंठन और सूजन की समस्या नहीं होने देते। ऑर्थराइटिस की समस्या से निपटने में भी तांबे का पानी फायदेमंद होता है। अमेरिकन कैंसर सोसायटी के अनुसार तांबे कैंसर की शुरुआत को रोकने में मदद करता है और इसमें कैंसर विरोधी तत्व मौजूद होते है। शरीर की अंदरूनी सफाई के लिए तांबे का पानी कारगर होता है। इसके अलावा यह लिवर और किडनी को स्वस्थ रखता है और किसी भी प्रकार के इंफेक्शन से निपटने में तांबे के बर्तन में रखा पानी लाभप्रद होता है। तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने से स्किन से जुड़ी किसी तरह की समस्याएं नहीं होती। यह फोड़े, फुंसी, मुंहासे और त्वचा संबंधी अन्य रोगों को पनपने नहीं देता जिससे आपकी त्वचा साफ और चमकदार दिखाई देती है। तांबे का पानी पाचनतंत्र को मजबूत कर बेहतर पाचन में सहायता करता है। रात के वक्त तांबे के बर्तन में पानी रखकर सुबह पीने से पाचन क्रिया दुरुस्त होती है। इसके अलावा यह अतिरिक्त वसा को कम करने में भी बेहद मदददगार साबित होता है। यह दिल को स्वस्थ बनाए रखकर ब्लड प्रेशर को नियंत्रित कर बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। इसके अलावा यह हार्ट अटैक के खतरे को भी कम करता है। यह कफ की शिकायत को दूर करने में मदद करता है। तांबे में एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं जो घावों को जल्दी भरने में मदद करते हैं। इसके साथ ही यह इम्यून सिस्टम को बूस्ट कर के नई कोशिकाओं के उत्पादन में मदद करता है। यह शरीर के अंदर होने वाले घावों को जल्दी भरने में मदद करता है खासकर पेट के। सुबह खाली पेट तांबे के बर्तन से पानी पीने से अल्सर जैसी समस्या भी दूर होती है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *