लक्ष्मी कृपा पाने के लिए घर में रखें इस रंग की मछलियां

ज्योतिष

वास्तु के अनुसार घर-कार्य स्थान में रंग-बिरंगी मछलियां रखना शुभता का प्रतीक है। मछलियों को पालने के लिए एक्वेरियम का यूज तो हर कोई कर लेता है लेकिन क्या आप जानते हैं ये आपके जीवन में धन, वैभव एवं सुख-समृद्धि लाता है। मछलियों का घर यानि एक्वेरियम लक्ष्मी देवी को घर में खुला निमंत्रण देता है और इन्हें पालने वालों को धन की प्राप्ती होती है। प्राचीन काल में राजा-महाराजा अपने महल में एक छोटा सा तालाब बनवाते थे जिसमें मछलियों का पालन-पोषण किया जाता था। वे रोजाना अपने हाथों से मछलियों को दाना खिलाते। मछलियों को दाना खिलाना भी मानसिक सुकून का एक सटीक जऱीया है। मछलियों को अपना फैमिली मेंबर बनाने से पहले कुछ बातों का खास ध्यान रखें-लक्ष्मी घर में आर्थिक समृद्धि चाहते हैं तो एक्वेरियम को उत्तर दिशा में रखें। बच्चों की बेहतर पढ़ाई व करियर के लिए पूर्व दिशा में एक्वेरियम रखें। एक्वेरियम को हमेशा घर की आऊट लुक पर रखें। बेडरूम में एक्वेरियम को रखने से मानसिक अस्थिरता बनी रहती है और नींद में बाधा आ सकती है। एक्वेरियम में कम से कम नौ मछलियां रखें जिनमें आठ गोल्ड फिश एवं एक काली मछली हो। काली मछली को मास्टर फिश कहते हैं, जो एक्वेरियम के जल को स्वच्छ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। एक्वेरियम का पानी गंदा होने पर तुरंत उसे बदलने की व्यवस्था करें। वास्तु के अनुसार घर के किसी भी हिस्से में गंदा पानी अशुभ माना जाता है। यात्रा के लिए घर से निकलने से पूर्व एक्वेरियम का दर्शन शुभ माना जाता है। सुबह सोकर उठने के बाद परिवार के सभी सदस्यों को सबसे पहले एक्वेरियम में रखी मछलियों को देखना चाहिए। इससे सकारात्मक ऊर्जा की प्राप्ति होती है व दिन भर के कामों में सफलता मिलती है। एक्वेरियम को कभी भी दक्षिणी, दक्षिण-पूर्वी, दक्षिण-पश्चिम एवं पश्चम-उत्तर की दिशाओं में मत रखें। एक्वेरियम वर्क प्लेस पर रखने से सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *