केंद्र को रोजगार की नहीं आरक्षण की चिंता: पल्लवी पटेल

उत्तर प्रदेश देश लखनऊ

लखनऊ। अपना दल (कृष्णा पटेल गुट) ने आर्थिक आधार पर आरक्षण देने वाले विधेयक पर विरोध जताया है। राजधानी स्थित प्रदेश मुख्यालय पर गुरुवार को प्रदेश अध्यक्ष पल्लवी पटेल ने कहा कि केन्द्र सरकार को रोजगार की चिंता करने की जरूरत है। लेकिन सरकार आरक्षण के नाम पर देश में फूट डालने की कोशिश कर रही है। बेरोजगारी की समस्या के बीच आरक्षण की बात धोखा है। पल्लवी ने बताया कि देश में प्रतिदिन 550 नौकरियां खत्म हो रही हैं और लगभग 15 करोड़ से अधिक युवा बेरोजगार हैं। भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में प्रतिवर्ष 02 करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था, लेकिन पूरा करने में नाकाम है। सरकार विफलता को छिपाने के लिए सामान्य वर्ग को आरक्षण देकर गुमराह कर रही है। आरक्षण नहीं, रोजगार चाहिए पटेल ने कहा कि हमें आरक्षण नहीं, रोजगार चाहिए। रोजगार हमारा हक है। अब लड़ाई 10 प्रतिशत आरक्षण की नहीं है, बल्कि रोजगार की है। उन्होंने चिंता जतायी कि यदि रोजगार के अवसरों को ही धीरे-धीरे खत्म कर दिया जायेगा तो आरक्षण किस काम का रह जायेगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *