डीजीपी ने लिया युवती को जिंदा जलाने का संज्ञान, थानेदार निलम्बित

अन्य बड़ी खबरें

आईजी लखनऊ करेंगे मामले की जांच
गोमती आवाज ब्यूरो
सीतापुर। सीतापुर जनपद में युवती को जिंदा जलाने के मामले में पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने गंभीरता से लिया। लापरवाही बरतने पर रविवार को थानेदार को निलम्बित कर दिया है। वहीं, इस पूरे प्रकरण की जांच के लिए आईजी लखनऊ को सौंपी है। तंबौर थाना क्षेत्र स्थित एक गांव की निवासी एक विवाहिता अपने मायके आई थी। शनिवार को वह नित्यक्रिया के लिए गई थी। आरोप है कि इसी दौरान गांव के रहने वाले रामू व राजेश ने महिला को दबोच लिया और छेड़छाड़ शुरु कर दी। विरोध करने पर दबंगों ने महिला पर केरोसीन डालकर आग लगाकर भाग गए। आग से लिपटी महिला के चीख-पुकार सुनकर आसपास के लोग ग्रामीण पहुंचे और झुलसी महिला को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। महिला के पति ने थाने में आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी, लेकिन पुलिस ने इस मामले में कोई भी सुनवायी नहीं की। इसके बाद पीडि़त ने क्षेत्राधिकारी बिसवा तौकी अहमद से न्याय की गुहार लगाई। सीओ ने मामले को गंभीरता से लेकर जांच शुरू कर दी। मामला इतना तूल पकड़ लिया कि पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह ने पूरे प्रकरण की जांच के लिए आईजी लखनऊ को सीतापुर भेजा है। साथ ही लापरवाही मिलने पर थाना प्रभारी ओपी सरोज को निलंबित कर दिया। उन्होंने कहा कि इसकी पूरी जांच कर जो भी दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ ठोस कार्रवाई की जाय।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *