दलाई लामा अपने बीच 36 देशों से आये अनुयाइयों को देख हुए गदगद

अन्य बड़ी खबरें

गोमती आवाज ब्यूरो
फर्रुखाबाद। उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिले का ग्राम संकिसा एक अरसे बाद रविवार को फिर बुद्ध मय हो गया। यहां पहुंचे बौद्ध धर्म गुरु दलाई लामा अपने बीच 36 देशों से आये अनुयाइयों को देख गदगद हो गए। उन्होंने अपने शिष्यों को तथागत की तप स्थली पर गले लगा कर इशारों-इशारों में कह दिया कि इसी धरती पर भगवान बुद्ध ने अखण्ड साधना की थी। अपने निर्धारित समय के अनुसार दलाई लामा चार्टर विमान से दोपहर 12:30 बजे मोहम्मदाबाद हवाई पट्टी पर उतरे जहां सैकड़ों अनुयाई उनका पहले से ही इंतजार कर रहे थे। इसके बाद उन्हें बुलेट प्रूफ कार से कड़ी सुरक्षा के बीच बौद्ध विहार संकिसा ले जाया गया। संकिसा में दलाई लामा के आने का इंतजार श्रीलंका, वर्मा, चीन, अमेरिका, तिब्बत, जापान सहित 36 देशों से आये अनुयाई कर रहे थे। बौद्ध गुरु के पहुंचते ही विदेशी अनुयाई खुशी से उछल पड़े और उन्होंने अपने धर्म गुरु का गर्म जोशी के साथ स्वागत किया। दलाई लामा ने संकिसा की माटी को नमन किया और मन ही मन अपने अनुयायियों को संकेत दे दिया कि इसी धरती पर भगवान बुद्ध ने रह कर अखण्ड साधना की थी। दलाई लामा अपने धर्म अनुयाइयों से दिल खोल कर मिले। हालांकि तमाम आतंकी संगठनों की धमकी को देखते हुए उनकी सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रही। इसके बाद दलाई नामा संकिसा में जापान के बौद्ध अनुयाइयों द्वारा बनवाये गए तीन सितारा होटल में चले गए। वह आज होटल में विश्राम करेंगे एवं खास विदेशी मित्रों से मुलाकात करेंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *