भाजपा-कांग्रेस ने राजस्थान में दलितों के साथ किया धोखा: माया

बड़ी खबरें

सात दिसम्बर के दिन इस समाज के लोग दोनों दलों को अपनी ताकत दिखा देंगे
गोमती आवाज ब्यूरो
लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि भाजपा हो या कांग्रेस, दोनों दलों ने राजस्थान में दलितों के साथ धोखा ही किया है। उन्होंने भाजपा व कांग्रेस पर आरक्षण विरोधी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि दलित समाज एकजुट हो चुका हैं और सात दिसम्बर के दिन इस समाज के लोग दोनों दलों को अपनी ताकत दिखा देंगे। बसपा सुप्रीमो कुमारी मायावती जालोर के आहोर विधानसभा क्षेत्र स्थित भैसवाड़ा गांव में आवासीय स्कूल के पास रविवार को बसपा के उम्मीदवार पंकज मीणा के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रही थी। मायावती ने कहा कि राजस्थान में भाजपा-कांग्रेस ने दलितों को आरक्षण के नाम पर बहुत गुमराह किया। दलितों के घर आरक्षण के नाम पर केवल वोट मांगे जाते हैं, लेकिन बाद में कोई भी आकर उन्हें नहीं पूछता है। देश की दोनों ही प्रमुख राजनीतिक पार्टियों ने आम जनता को बहुत ही दुखी किया है। पिछले साल के आंकड़े देखें तो साफ होता है कि दलितों पर अत्याचार बढ़ा है, लेकिन सरकार ने इसे रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाए हैं। मायावती ने कहा कि 2 अप्रैल को जिस प्रकार दलितों पर अत्याचार किया गया, घर बैठे लोगों पर राजस्थान की पुलिस ने मामले दर्ज कर बेगुनाहों को जेल में डाल दिया। 2 अप्रैल को दलित अपने हक की लड़ाई के लिए शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन सामने से कुछ लोगों ने हिंसात्मक रुख अपनाया। इसके बावजूद दलितों को टारगेट करके राजस्थान की सरकार ने फंसाया। इसके बाद चुनावों के समय सभी मामले वापस भी लिए गए हैं, लेकिन ये मामले दर्ज करने और वापस लेने का पूरा भाजपा सरकार का एक षडयंत्र था। इसका शिकार राजस्थान के दलितों को बनाया गया। मायावती ने कहा कि भाजपा-कांग्रेस दोनों ही प्रमुख दल आम लोगों को गुमराह करते रहे हैं, लेकिन जब से राजस्थान में बसपा की एंट्री हुई है, तब से राजस्थान की राजनीति के समीकरण बदल गए हैं। मायावती ने कहा कि अब वक्त आ गया है कि भाजपा-कांग्रेस को उसकी करनी का जवाब दिया जाए। उन्होंने जिले में बसपा के प्रत्याशियों को जिताने की अपील की।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *