एमडीआर टीबी की नई दवा ‘बिडाकुलीन’ का केजीएमयू से होगा शुभारम्भ

उत्तर प्रदेश देश लखनऊ

लखनऊ। टीबी एक नई दवा बिडाकुलीन का शुभारम्भ बुधवार को किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्व विद्यालय के सेल्बी हॉल में प्रदेश के चिकित्सा स्वास्थ्य राज्यमंत्री डॉ. महेंद्र सिंह करेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एमएलबीभट्ट करेंगे। उत्तर प्रदेश क्षय रोग कार्यक्रम टास्कर्स के चैयरमैन एवं रेस्परेट्री विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. सूर्यकांत ने बताया कि विश्व के 27 प्रतिशत क्षय रोग के मरीज भारत में हैं। इस साथ ही एमडीआरटीबी की समस्या भी देश तथा प्रदेश में तेजी से बढ़ रही है। इसके उपचार हेतु विश्वस्वास्थ्य संगठन ने एक नई दवा बिडाकुलीन उपयोग किए जाने पर अपनी स्वीकृति प्रदान की है। डा. सूर्यकान्त ने बताया? बाहर बाजार में यह दवा बहुत ही महंगी है। केजीएमयू में आने वाले मरीजों को यह दवा नि:शुल्क प्रदान की जायेगी।

औषधियों के फायदे बतायेगा आयुर्वेद संवाद
लखनऊ। भारतीय पारम्परिक चिकित्सा पद्धति रही आयुर्वेदिक औषधियों के सुरक्षित उपयोग और उसके लाभों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने के लिये डाबर इण्डिया ने ‘आयुर्वेद संवाद की शुरुआत की है। पहला सम्मेलन राजधानी लखनऊ में आयोजित किया गया। इस सम्मेलन में प्रदेशभर से आये लोगों ने शिरकत की। डाबर इंडिया लिमिटेड के मेडिकल मार्केटिंग हेड डॉ. दुर्गा प्रसाद ने बताया कि ‘आयुर्वेद संवाद’ अभियान के माध्यम से देश के विभिन्न राज्यों में सम्मेलन, प्रदर्शनी और कार्यशालायें आयोजित की जायेंगी ताकि देश में रही भारतीय पारंपरिक चिकित्सा पद्धति आयुर्वेदिक औषधियों के उपयोग और उसके लाभ के बारे में ज्यादा से ज्यादा लोगों को जागरूक किया जा सके। सम्मेलन का मुख्य विषय आसव अरिष्ट का मानकीकरण एंव क्लिनिकल अध्ययन रखा है। सम्मेलन में यूपी भर से आए लगभग 60 से अधिक आयुर्वेदिक चिकित्सकों ने भाग लिया। इस मौके पर प्रोफेसर जीएस तोमर, डॉ.जेपी मिश्रा, डॉ.एसएस गौरी, डॉॅ. श्वेता कौशिक एंव डॉ. शांतनु मिश्रा सम्मेलन के मुख्य अतिथि रहे। वहीं डाबर से गुलराज भाटिया व बिरेन्द्र सिंह रहे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *