निकायों के आय-व्यय में पारदर्शिता के लिए डबल इंट्री सिस्टम को हरी झंडी

बड़ी खबरें

गोमती आवाज ब्यूरो
लखनऊ। योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट ने बुधवार को नगरीय निकायों के आय-व्यय के ब्योरे में पारदर्शिता लाने के लिए दोहरी लेखा प्रणाली यानी डबल इंट्री सिस्टम को हरी झंडी दे दी है।  इससे सरकार को किसी भी निकाय के आय-व्यय की जानकारी एक क्लिक में मिल जाएगी। साथ ही अधिकारियों की जवाबदेही बढ़ जाएगी। इसे निकायों में राज्य स्तरीय विशेषज्ञ सलाहकार एवं सीए फर्मों के सहयोग से लागू किया जाएगा। नगरीय निकाय निदेशालय निकाय कर्मियों को दोहरी लेखा प्रणाली के उपयोग के लिए प्रशिक्षण देगा। इसमें आय व व्यय का मदवार ब्योरा दर्ज किया जाएगा। लेखा प्रणाली में प्रस्तावित सुधार से निकायों की वित्तीय स्थिति भी ठीक होगी। इसके लिए कैबिनेट ने उत्तर प्रदेश नगर पालिका लेखा नियमावली 1918 व उत्तर प्रदेश नगर महापालिका लेखा नियमावली 1959 में संशोधन को हरी झंडी दे दी है। इससे निकायों का तुलनात्मक विवरण तैयार करने में नगर निकायों की सही व वास्तविक वित्तीय स्थिति का पता चल जाएगा। स्थानीय निधि लेखा परीक्षा विभाग का वर्ष 2016-17 का वार्षिक प्रतिवेदन सदन के पटल पर रखने को कैबिनेट ने हरी झंडी दे दी है। इसे स्थानीय निधि लेखा परीक्षा अधिनियम 1984 के तहत तैयार किया जाता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *