आत्मघाती दस्ते की घात से घायल कांग्रेस

देश की पुरानी पार्टी कांग्रेस और उसके अध्यक्ष राहुल गांधी दल के वरिष्ठ नेताओं की उल-जलूल बयानबाजी से परेशान हैं। चुनावी माहौल में पार्टी के नेता आत्मघाती दस्ते की भूमिका निभाते दिखते हैं। सेना के शौर्य पर सैम पित्रोदा का सवाल इसका उदाहरण है। राहुल गांधी पार्टी में नया जोश भर रहे हैं। वह कांग्रेस […]

Continue Reading

सियासी परिदृश्य में महागठबंधन

मोदी को रोकने के लिए अथवा भाजपा को पछाडऩे के लिए कांग्रेस ने महागठबंधन बनाने की अवधारणा की परिकल्पना की थी, परंतु यह अभी तक अस्तित्व में नहीं आ पाया है। उधर भाजपा ने, जिसने इस तरह के महागठबंधन प्रयासों को ठगबंधन का नाम दिया है, अपना गठबंधन पहले ही कर लिया है। महागठबंधन की […]

Continue Reading

चुनाव प्रचार के भद्दे बोल

राजनीतिक चुनाव प्रचार के कुछ भद्दे बोल सामने आए हैं। एक कांग्रेस प्रवक्ता ने ‘मोदी’ शब्द की व्याख्या करते हुए ‘एम’ से मसूद अजहर, ‘ओ’ से ओसामा बिन लादेन, ‘डी’ से दाऊद इब्राहिम और ‘आई’ से आईएसआई कहा है। कांग्रेस के ही एक विधायक ने मोदी को ‘नामर्द’ करार दिया है। केंद्रीय संस्कृति मंत्री डा. […]

Continue Reading

फिर आया मौसम दलबदल का

राजनीति बड़ी अजीब होती है। यहां सुविधा के हिसाब से सिद्धांत गढ़े जाते हैं। चुनावी महादंगल की तारीखें तय होने के साथ बागी व दलबदलू नेता भी सुविधानुसार अपनी दुकान सजाने में जुट गए हैं। आम से लेकर खास, इस बार का लोकसभा चुनाव किसी विश्व कप कम से कम नहीं आंक रहे हैं। इसलिए […]

Continue Reading

कश्मीर के अलगाववादियों को साफ संदेश

योगेश कुमार गोयल करीब तीन सप्ताह पहले जमात-ए-इस्लामी और अब जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) पर प्रतिबंध लगाकर केन्द्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के पैरोकार बने और पाकिस्तान की भाषा बोलने वाले अलगाववादियों को स्पष्ट संकेत दे दिया है कि घाटी में उनकी मनमानी करने के दिन लद गए। हालांकि विपक्षी दलों का आरोप है […]

Continue Reading

राष्ट्रभक्ति बनेगा इस बार का चुनावी मुद्दा!

सुरेश हिन्दुस्थानी स्वतंत्रता मिलने के पश्चात विगत 70 सालों में देश ने कई चुनाव देखे हैं। कई सरकारें बनीं और कई चली गईं। कई तो बिलकुल ही चली गईं। कुछ नए राजनीतिक दलों का उदय हुआ, तो इनमें से कुछ अस्त भी हो गए। इसके अलावा कई नाम बदलकर आज भी मैदान में हैं। प्रारंभ […]

Continue Reading

सादगी की मिसाल थे मनोहर पर्रिकर

गोवा के मुख्यमंत्री तथा देश के पूर्व रक्षामंत्री 63 वर्षीय मनोहर पर्रिकर 17 मार्च की रात कैंसर से जंग लड़ते हुए चिरनिद्रा में सो गए। एडवांस्ड पैंक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे पर्रिकर लंबे समय से अस्वस्थ चल रहे थे। लेकिन अस्वस्थता के बावजूद काम के प्रति उनका जोश और जज्बा बेमिसाल था। वह सदैव दूसरों […]

Continue Reading

सुरक्षा परिषद् की जरूरत पर सवाल

प्रमोद भार्गव संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में सुधार और विस्तार की मांग कई मौकों पर उठाई जाती है। यह सवाल अब ज्यादा अहम है क्योंकि चीन ने हठधर्मिता अपनाते हुए जिस तरह जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी सरगना मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादियों की सूची में शामिल कराने के प्रयासों पर अड़ंगा लगाया है, उससे साफ है […]

Continue Reading

रंगोत्सव पर मिलावटी रंगों से रहें सावधान

रमेश ठाकुर होली का त्योहार नजदीक आते ही हर तरफ रंगों की फुहार बहने लगती है। करीब सप्ताह भर पूरा वातावरण रंगोत्सव में सराबोर रहता है। ग्रामीण अंचल से लेकर महानगरों तक दूसरे पर्व-त्योहारों के मुकाबले होली का क्रेज ज्यादा रहता है। फागुन के अंतिम दिनों में चारों तरफ रंगीली फुहारों की रसधारा होती है […]

Continue Reading

राहुल का अजहर जी प्रेम

मृत्युंजय दीक्षित पुलवामा हमले और उसके बाद पाकिस्तान में अंदर घुसकर की गयी एयर स्ट्राइक के बाद विपक्षी दलों के नेता और कांग्रेस पार्टी एक के बाद एक सबूत मांग रहे हैं। जम्मू-कश्मीर के नेता फारूख अब्दुल्ला ने तो सारी हदें पार करते हुए एयर स्ट्राइक को स्टंट बताकर सेना के अदभुत शौर्य का अपमान […]

Continue Reading