सोमवार, जनवरी 21, 2019

अन्य बड़ी खबरें

मिलावटी शराब के साथ युवक गिरफ्तार

गोमती आवाज ब्यूरो हसनगंज, उन्नाव। हसनगंज कोतवाली पुलिस ने रविवार को मुखबिर की सूचना पर शाहपुर तोन्दा गांव में एक घर में छापेमारी कर मिलावटी शराब के साथ एक युवक को धर दबोचा। जबकि साथी भागने में सफल रहा। रविवार की सुबह हसनगंज पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर शाहपुर तोन्दा गांव में एक घर […]

कुंभ मेला क्षेत्र से पुलिस ने 15 टप्पेबाज किए गिरफ्तार, होगी कार्रवाई

प्रयागराज। तीर्थराज प्रयाग में कुंभ मेला क्षेत्र में पुलिस ने टप्पेबाज गिरोह के 15 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नितिन तिवारी ने बताया कि मेला क्षेत्र में टप्पेबाजी कर श्रद्धालुओं का सामान उड़ाने वाले गिरोह के हरीश अयप्पा, मुरली नायडू, इलाबर्सन नायडू, सुब्रमणि, गोबिंद राज, अजय नायडू समेत 15 सदस्यों को दारागंज […]

राजनीति

जनता को भाजपा सरकार मे बेबसी, झूठ, जुमलो के सिवाय कुछ नही हासिल हुआ : तनुज पुनिया

जिलाध्यक्ष अमरनाथ मिश्रा की अध्यक्षता मेें निन्दूरा मेें बैठक सम्पन्न गोमती आवाज संवाददाता बाराबंकी। देश की आवाम पिछले पांच वर्षो से सिर्फ झूठ का झूला झूल रही है देश की जनता जागरूक है। भाजपा सरकार में उसे बेबसी, झूठ, जुमलो के सिवाय कुछ नही हासिल हुआ। अब 2019 के चुनाव में आवाम मोदी के सिंहासन […]

Opinion

अमृत- प्यास का कुम्भ

अमृत प्राचीन प्यास है। कोई मरना नहीं चाहता लेकिन सभी जीव मरते हैं। मृत्यु को शाश्वत सत्य कहा गया है। जीव मृत्यु बंधु हैं। मृत और अमृत परस्पर विरोधी जान पड़ते हैं पर हैं दोनो साथ-साथ। पूर्वज बता गए हैं कि शरीर नाशवान है। क्षरणशील है। क्षर है। लेकिन जीवन में क्षर के साथ अक्षर […]

महिला रेसलिंग में स्वर्णिम इतिहास रचतीं पहलवान विनेश फौगाट

योगेश कुमार गोयल हरियाणा में भिवानी की 24 वर्षीया पहलवान विनेश फोगाट इन दिनों अपनी उपलब्धियों को लेकर सुर्खियों में हैं। हाल ही में वह 2018 के ‘लॉरियस वल्र्ड स्पोर्ट्स अवार्ड के लिए नामित हुई हैं। इसी के साथ वह इस प्रतिष्ठित अवार्ड के लिए नामित होने वाली पहली भारतीय पहलवान बन गई हैं। वर्ष […]

Social Media

महिला शिक्षा की अलख जगाई थीं सावित्रीबाई फुले ने

समाज में नई जागृति लाने के लिए कवयित्री के रूप में सावित्रीबाई फुले ने 2 काव्य पुस्तकें ”काव्य फुले”, ”बावनकशी सुबोधरत्नाकर” भी लिखीं। उनके योगदान को लेकर 1852 में तत्कालीन ब्रिटिश सरकार ने उन्हें सम्मानित भी किया। उन्नीसवीं सदी के दौर में भारतीय महिलाओं की स्थिति बड़ी ही दयनीय थीं। जहां एक ओर महिलाएं पुरुषवादी […]

guru randhawa

https://youtu.be/Q-GOFPM01d0